इंटरचेंज फ्लाईओवर देगा राहत, खतरनाक चौराहे पर दूर होगा डर , January 01, 2021 at 05:52AM

प्रदेश के सबसे बड़े तथा हैवी ट्रैफिक की वजह से बेहद खतरनाक हो चले टाटीबंध चौराहे की दिक्कतें इस साल तक दूर हो जाएंगी। टाटीबंध चौक पर वाहनों का जबरदस्त दबाव है। 24 घंटे में लगभग पौने दो लाख वाहन गुजर रहे हैं, जिसमें 50 फीसदी भारी वाहन हैं। इसलिए दस साल में तीन बार चौराहे का डिजाइन बदला गया। ट्रैफिक सिस्टम चेंज हुआ, लेकिन हालात बिगड़ते चले। तब यहां इंटरचेंज फ्लाईओवर का प्रोजेक्ट बना। यहां छह माह पहले इंटरचेंज फ्लाईओवर का काम शुरू हुआ था, जो तेजी से चल रहा है। हर प्रमुख सड़क पर अलग-अलग उतरनेवाला करीब 98 करोड़ का यह फ्लाईओवर चौराहे को सबसे सुविधाजनक बना सकता है, ऐसी उम्मीद करिए।

30 फीट ऊपर भी चौराहा
एनएचआई ने अहमदाबाद की एजेंसी के जरिए काम शुरू करवाया है। इंटरचेंज फ्लाईओवर का डिजाइन ऐसा है कि तीन सड़कों से चढ़ने वाले अलग-अलग फ्लाईओवर सड़क से करीब 30 फीट ऊंचाई पर चौराहे के ठीक ऊपर जुड़ेंगे और दूसरी सड़कों पर उतर जाएंगे।

निर्माण पहले ही डेढ़ साल लेट
इस चौराहे पर इंटरचेंज फ्लाईओवर प्रोजेक्ट डेढ़ साल फंसा रहा। प्रदेश में सरकार बदली तो प्रोजेक्ट के बंद होने की आशंका थी क्योंकि केंद्रीय सड़क मंत्रालय ने फंड रोक दिया था। लेकिन राज्य सरकार की कोशिश के बाद पैसे मिले और काम शुरू हुअा। हालांकि राजधानी के लोग इस देरी के कई बुरे प्रभाव झेल रहे हैं। निर्माण एजेंसी इस चौराहे का निर्माण ट्रैफिक डायवर्ट किए बिना कर रही है। इस वजह से यहां दिनभर जाम रहने लगा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Interchange flyover will provide relief, fear will be overcome at dangerous intersection


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3rK5L7e

0 komentar