दिसंबर में नहीं टूटा ठंड का रिकॉर्ड, जनवरी 2012 में सर्वाधिक 5.4 डिग्री तक लुढ़का था पारा , January 02, 2021 at 05:33AM

नया साल शुरू हो गया है। शुक्रवार को नए साल 2021 का पहला दिन था लेकिन शहर के मौसम में कोई बदलाव नहीं हुआ। अधिकतम और न्यनूतम तापमान 24 घंटे पहले जितना ही रहा। आसमान पर बादल छाए थे और हवा की दिशा दक्षिण-पूर्व ही रही। इस वजह से उतनी ठंड महसूस नहीं हुई। इधर इस बार दिसंबर में ठंड उतनी नहीं पड़ी और पिछले साल के 6.5 डिग्री का रिकॉर्ड नहीं टूटा। वहीं अब जनवरी में ठंड को लेकर उम्मीद बंधी है। सबसे ज्यादा 5.4 डिग्री पारा जनवरी 2012 में लुढ़का था।
शुक्रवार को सुबह आसमान पर बादल छाए थे। इसकी वजह से ठंड पहले से ही कम थी। इसके बाद थोड़ी धूप निकलने के बाद वातावरण में मौजूद ठंडक भी गायब हो गई। जैसे-जैसे समय गुजरता गया, तापमान में वृद्धि होती चली गई। दोपहर में अधिकतम तापमान 27.6 डिग्री दर्ज हुआ जबकि एक दिन पहले यह 27.4 डिग्री रिकॉर्ड हुआ था। इसके बाद पारा लुढ़कने लगा लेकिन ठंड ज्यादा महसूस नहीं हुई। रात में भी बादल के असर से ठंड कम लगी। मौसम विभाग ने 2 जनवरी के बाद न्यूनतम तापमान में मामूली बदलाव की संभावना जताई है। इधर दिसंबर में इस बार ठंड ने मायूस किया। केवल एक बार न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री दर्ज हुआ जबकि तीन बार पारा नौ डिग्री दर्ज हुआ। बता दें कि बिलासपुर में पिछले साल न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री तक लुढ़का था। जबकि 2018 में न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री, 2017 में 9.1 डिग्री, 2016 में 8.2 डिग्री, 2015 में 7.8 डिग्री, 2014 में 7.3 डिग्री, 2013 में 8.6 डिग्री, 2012 में 7.7 डिग्री, 2011 में 7.7 डिग्री तो 2010 में 6.6 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज हुआ था। इधर जनवरी में पड़ने वाली ठंड की बात करें तो जनवरी 2012 जैसी ठंड पिछले दस वर्षों में नहीं पड़ी है। तब पारा 5.4 डिग्री न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड हुआ था। इस बार यदि पारा इससे नीचे गया तो पुराना रिकॉर्ड टूटेगा और नया बन जाएगा। जनवरी के पहले दिन न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रहा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The record for the cold did not break in December, the mercury had dropped to a maximum of 5.4 degrees in January 2012.


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Mqnost

0 komentar