बाइक में फंसकर अंगूठा कटा, दूसरी उंगली की स्किन से जोड़ा , January 04, 2021 at 06:10AM

बाइक को स्टार्ट कर उसकी सफाई करते हुए एक 20 वर्षीय युवक का अंगूठा चेन में आ गया और जब तक वह संभल पाता तब तक उसके अंगूठे का ऊपरी हिस्सा ही कट चुका था। रायगढ़ में हुए इस हादसे के बाद सबसे बड़ी चुनौती अ‌गूंठे से बह रहे खून के बहाव को रोकने व उसे पहले जैसे स्थिति में लाने की थी। युवक के परिवार ने राजधानी के निजी व सरकारी अस्पतालों में संपर्क करना शुरू किया और यहां के शासकीय डीकेएस अस्पताल में ही उसकी पहुंचते ही सर्जरी की गई। अ‌ंगूठे के पास वाली उंगली की स्किन लेकर उसके कटे हिस्से को भरा गया और पहले जैसा बनाया गया। सर्जरी करने वाले डॉक्टरों की टीम का कहना है कि अगर समय रहते यह सर्जरी नहीं की जाती है तो अंगूठे में मांस की जगह सिर्फ बची हड्डी खराब हो सकती थी, फिर यह ऑपरेशन नहीं हो‌ सकता था।

रायगढ़ का 20 साल का अभिजीत शर्मा (बदला हुआ नाम) महीनेभर पहले अपनी बाइक की सफाई कर रहा था। बाइक स्टार्ट कर वह टायर व चेन कवर के पास सफाई कर रहा था, अचानक उसका दायां हाथ घूम रहे चेन में फंस गया और रगड़ गया। जब तक वह अपना हाथ बचा पाता, उसका अंगूठे का ऊपरी हिस्सा पूरी तरह से कट गया। खून ही खून बहने लगा, ऐसे में उसके परिजनों ने तत्काल उसे स्थानीय अस्पताल ले गए, वहां से उसे रायपुर ले जाने की बात कही गई। यहां अपने परिचितों व अस्पतालों से संपर्क के बाद उस युवक को 4-5 घंटे में राजधानी लाकर डीकेएस में भर्ती किया गया। डीकेएस में प्लास्टिक सर्जरी करने वाले डॉ. कृष्णानंद ध्रुव ने बताया कि उसके अंगूठे की स्थिति बहुत ही खराब हो चुकी थी। ब्लड बह रहा था। नाखून व उसके नीचे का हिस्सा कट चुका था, वह वहीं रह गया था। इससे हड्डी दिखाई दे रही थी, उसे भी अगर ऐसे ही कुछ समय तक रखा जाता है तो वह खराब हो सकती थी।

कमर के पास की स्किन का भी इस्तेमाल
डॉक्टरों ने बताया कि हमारी टीम ने तत्काल तैयारी की और उसकी सर्जरी की गई। अब अंगूठे के खाली हिस्से को भरने के लिए स्किन (मांस) के लिए उसी हाथ की बगल की उंगलियों से स्किन लेकर उसे भरने के साथ वायर डाला गया। उसके बाद हाथ की उंगलियों को कमर के पास से स्किन लेकर फुल थिकनेस स्किन ग्राफ किया गया। इसके बाद उस युवक के 20 दिन बाद उसका अंगूठा पहले की तरह आकार ले लिया है।
समय पर सर्जरी इसलिए अंगूठा बचा : डॉ. ध्रुव ने बताया कि यह जरूर है कि पहले की तरह फंक्शन करना तो अभी शुरू नहीं करेगा। धीरे-धीरे वह भरेगा और मूवमेंट शुरू होगा। समय रहते सर्जरी होने से फायदा यह हुआ कि उसका अंगूठा खराब होने से बच गया, नहीं तो ऐसे मामले में घरेलू या छोटे अस्पताल में ट्रीटमेंट कराने में लोग समय खराब कर देते हैं। यह सुविधा सरकारी अस्पताल में होने से आसानी से हो गया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Stuck thumb in bike, attached to skin of second finger


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2JJ8tZq

0 komentar