मृत कर्मचारी की पत्नी ने अनुग्रह राशि हड़पने का आरोप लगाया, कर्मचारी नेता ने बताया दूसरे नेता का षड़यंत्र , January 08, 2021 at 05:38AM

छत्तीसगढ़ मंत्रालय शीघ्रलेखक संघ के अध्यक्ष देवलाल भारती पर एक मृत कर्मचारी की पत्नी ने अनुग्रह राशि हड़पने का आरोप लगाया है। महिला का कहना है, भारती, उसकी अनुकम्पा नियुक्ति में भी अड़ंगा लगा रहे हैं। महिला ने पुलिस महानिदेशक, मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री तक इसकी शिकायत की है। इधर कर्मचारी नेता देवलाल भारती का कहना है कि यह आरोप एक दूसरे कर्मचारी नेता की साजिश का परिणाम है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भेजी शिकायत में पेंशनबाड़ा निवासी सीमा बंजारे ने बताया है, मंत्रालय में निज सचिव रहे उनके पति मनोज बंजारे का 5 जुलाई को निधन हो गया था। सामान्य प्रशासन विभाग ने उनके दाह संस्कार के लिए 50 हजार रुपए की अनुग्रह राशि भेजी। उस समय वहां मौजूद कर्मचारी नेता और स्टाफ अफसर देवलाल भारती ने वह राशि ले ली। उसमें से 25 हजार रुपए उन्होंने अपने पास यह कहकर रख लिए कि अनुकम्पा नियुक्ति के लिए सामान्य प्रशासन विभाग में देना पड़ता है।

महिला का कहना है कि उसकी अनुकम्पा नियुक्ति को भी देवलाल भारती प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। वे अधिकारियों पर उसकी नियुक्ति नहीं करने का मौखिक दबाव बना रहे हैं। हालांकि महिला ने दिसम्बर में सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव को दी गई शिकायत में कहा है, उसको मिली अनुग्रह राशि में 25 हजार रुपए की रकम भारती के मांगने पर उन्हें दिया था। उस शिकायत में महिला ने भारती पर अपनी सास को भड़काने का आरोप लगाया है।

झूठे हैं आरोप, मेरे खिलाफ षड़यंत्र : देवलाल भारती

कर्मचारी नेता देवलाल भारती ने कहा, यह पूरी तरह से निराधार और असत्य है कि मैंने सीमा बंजारे की अनुकम्पा नियुक्ति में अड़ंगा लगाया है। मैंने उनसे रुपए भी नहीं लिए हैं। मुझे बदनाम करने के लिए यह आरोप लगाए जा रहे हैं। भारती ने कहा, मंत्रालय में अनुभाग अधिकारी कीर्तिवर्धन उपाध्याय की मेरे साथ कटुता और मतभेद है। आज सीमा बंजारे मंत्रालय में कीर्तिवर्धन उपाध्याय के कक्ष में 2-3 घंटे तक बैठीं थी। ऐसा लग रहा है कि यह झूठा आरोप कीर्तिवर्धन उपाध्याय के कहने से ही उपजा है।

इस मामले से मेरा क्या लेना-देना: कीर्तिवर्धन उपाध्याय

मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष कीर्तिवर्धन उपाध्याय ने देवलाल भारती के आरोपों को खारिज किया है। उपाध्याय ने कहा, देवलाल भारती के मामले से मेरा क्या लेना-देना। महिला पिछले महीने से ही विभिन्न मंचों पर उनकी शिकायत कर रही है। वह कह रही है कि देवलाल भारती उसकी अनुकम्पा नियुक्ति के मामले में अड़ंगा डाल रहे हैं। उसके पति के निधन पर मिली अनुग्रह राशि की आधी रकम ले ली है। मामले की जांच कर निष्पक्ष कार्रवाई होनी चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह मामला मंत्रालय में अनुकम्पा नियुक्तियों को लेकर चल रही राजनीति और रुपयों के लेनदेन काे भी सामने ला रहा है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2L3Sjuq

0 komentar