UG और PG में एडमिशन के लिए आए दोगुने से ज्यादा आवेदन, फिर भी खाली रह गईं 30 फीसदी सीटें , January 05, 2021 at 05:30PM

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (ABVU-बिलासपुर यूनिवर्सिटी) में मंगलवार को एडमिशन की प्रक्रिया खत्म हो गई। दो बार तारीख बढ़ाए जाने के बावजूद सीटों को भरा नहीं जा सका है। यूनिवर्सिटी और उससे संबद्ध कॉलेजों में 30 फीसदी सीटें खाली रह गई हैं। खास बात यह है कि UG और PG में एडमिशन के लिए सीटों से दोगुने से ज्यादा आवेदन आए थे।

दरअसल, कोरोना संक्रमण के चलते इस बार बोर्ड और यूनिवर्सिटी के परिणाम देर से जारी हुए। ऐसे में ABVU और उससे संबद्ध में अंडर ग्रेजुएट (UG) और पोस्ट ग्रेजुएट (PG) कोर्स में 8 हजार सीटें खाली रह गईं। इसे देखते हुए यूनिवर्सिटी ने अंतिम तिथि को 31 दिसंबर कर दिया। इसके बाद भी सीटें खाली रहीं तो उसे 5 दिन और बढ़ाकर 5 जनवरी तक किया गया। अंतिम दिन बीत जाने के बाद भी सीटें नहीं भर सकीं।

UG के लिए 1.19 लाख और PG के लिए 48 हजार आए थे आवेदन
यूनिवर्सिटी और संबद्ध कॉलेजों में UG की 39 हजार सीटें हैं। इसमें एडमिशन के लिए 1.19 लाख आवेदन आए थे। वहीं PG की 20 हजार सीटों के लिए 48 हजार छात्रों ने आवेदन किया था। तय समय सीमा समाप्त होने के बाद UG में 12 हजार सीटें खाली रह गई हैं। जबकि PG में सीटों को लेकर डाटा अपडेट किया जा रहा है। सिर्फ शासकीय साइंस कॉलेज और जेपी वर्मा कॉलेज में सभी सीटें भरी हैं।

तीन गुना आवेदन के बाद भी प्रोफेशनल कोर्स की सीटें खाली
यूनिवर्सिटी के एजुकेशन डिपार्टमेंट (UTD) में साइबर लॉ, योग साइंस और जीएसटी का सर्टीफिकेट कोर्स संचालित होता है। प्रत्येक में 30 सीटें हैं। इसके लिए तीन गुना छात्रों ने आवेदन किया था, लेकिन सिर्फ 5 से 10 छात्रों ने ही एडमिशन लिया है। संभावना जताई जा रही है कि सेंट्रल यूनिवर्सिटी में प्रवेश जारी होने के कारण छात्र वहां जा रहे हैं। इसके साथ ही बाहर से आने वाले आवेदन के बावजूद एडमिशन नहीं ले सके हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी में मंगलवार को एडमिशन की प्रक्रिया समाप्त हो गई। इस दौरान संबद्ध जेपी वर्मा कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए पहुंचे छात्र।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3bbj5LJ

0 komentar