मौत के बाद मुक्ति का इंतजार:​​​​​​​गरियाबंद जिला अस्पताल की मोर्चुरी में न प्रभारी, न स्वीपर; शवों के लिए 5-6 घंटे इंतजार, जब सर्जन आते हैं तब खुलता है ताला , April 27, 2021 at 04:21PM



from छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर https://ift.tt/3gIaIdq

0 komentar