Hindi News Paper Live Raipur Chhattisgarh India



तखतपुर/बिलासपुर 18 अक्टूबर 2022, “हाथों की स्वच्छता हर संक्रमण से बचाती है। स्वस्थ रहने के लिए हाथों को स्वच्छ रखना बहुत जरूरी है। अधिकतर बीमारियों का संक्रमण हाथों के माध्यम से ही फैलता है। इसलिए हाथों की स्वच्छता के प्रति सजग रहना बहुत जरूरी है।

उक्त बातें ग्लोबल हैंड वाशिंग डे के अवसर पर खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुनील हंसराज ने स्कूली बच्चों के लिए शासकीय स्कूल में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम के दौरान कही।“ साथ ही स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने बच्चों को हाथों की सफाई का महत्व बताकर अच्छी तरह से हाथ साफ करने के तरीके भी बताए गए।

डॉ. हंसराज ने बताया: “बच्चों में 90 प्रतिशत बीमारियों की वजह हाथों की गंदगी है। हाथों की सफाई के प्रति जागरूकता तथा हाथों को स्वच्छ रखकर विभिन्न प्रकार के संक्रमण से बचाव के लिए प्रतिवर्ष 15 अकटूबर को ‘ग्लोबल हैंड वाशिंग डे’ मनाया जाता हैI अगर हाथों को न धोया जाए या ठीक तरह से न धोया जाए, तो किसी वायरस या बैक्टीरिया के संपर्क में आसानी से आया जा सकता है।

इसके कारण हम बीमार हो सकते हैं। इसलिए अगर हाथों को साफ करके धोया जाए, तो कई बीमारियों से हम बच सकते हैं।“ इस अवसर पर स्कूली शिक्षक-शिक्षिकाएं एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।
हाथों की गंदगी से कैसे होती है बीमारी – जागरूकता कार्यक्रम के दौरान स्कूली छात्र-छात्राओं ने चिकित्सा विशेषज्ञों से कई सवाल भी किए।

स्कूली छात्र अभिषेक ने पूछा हाथ गंदे कैसे हो जाते हैं? तो वहीं छात्रा सरस्वती ने पूछा गंदे हाथों से बीमारियां कैसे हमें हो सकती है ? इसका जवाब देते हुए स्वास्थ्य अधिकारी डा. हंसराज ने बताया :”बीमार करने वाले वायरस और बैक्टीरिया इतने सूक्ष्म होते हैं कि दिखाई नहीं देते है।

मगर जब किसी भी सतह को या जगह को छूते हैं, जहां ये मौजूद होते हैं तो हमारे हाथ भी इन वायरस और बैक्टीरिया से संक्रमित हो जाते हैं। हाथ द्वारा ही शरीर के सारे कार्य किए जाते हैं। हर काम हाथों के प्रयोग से ही होते हैं। ऐसे में यदि हाथ साफ न रहे तो हमारा बीमार पड़ना तय है। इसलिए हाथों की सफाई के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है ताकि लोग स्वस्थ रहें।“

बताया हाथ धोने का तरीका – चिकित्सा विशेषज्ञों ने कार्यक्रम के दौरान हाथों की पूरी सफाई किस तरह की जाती है, इसे विस्तार से बताया। हाथों को स्वच्छ करने के लिए हाथों में साबुन लगाकर हाथों की अंगुलियों, अंगुलियों के बीच की जगह और नाखूनों को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए।

इससे किसी भी तरह के वायरस, बैक्टीरिया या हानि पहुंचाने वाले कीटाणुओं का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। साथ ही बीमारियों की आशंका भी काफी हद तक कम हो जाती है। खासकर गंदे हाथों से बच्चों में ज्यादातर डायरिया, फ्लू, उल्टी-दस्त की बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए बचपन से ही बच्चों को हाथों की स्वच्छता के फायदे बताएं और उन्हें इसके प्रति जागरूक करें।